Manhani Mamale Mein Kejriwal aur Sanjay Singh ko Rahat Nahin

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने उनके खिलाफ लाए गए आपराधिक मानहानि मामले में कार्यवाही पर रोक लगाने का अनुरोध किया था, लेकिन अहमदाबाद सत्र की एक अदालत ने उनके अनुरोध को खारिज कर दिया।

मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में चल रहे आपराधिक मानहानि मामले की सुनवाई पर अंतरिम रोक लगाने के Kejriwal aur Sanjay Singh के अनुरोध को सत्र न्यायाधीश एजे कनानी ने खारिज कर दिया। 

गुजरात यूनिवर्सिटी ने केजरीवाल और संजय सिंह द्वारा प्रधानमंत्री मोदी की डिग्री के बारे में की गई ‘अपमानजनक’ टिप्पणियों के जवाब में यह मुकदमा दायर किया है। आम आदमी पार्टी नेताओं के वकील पुनित जुनेजा के मुताबिक कोर्ट का आदेश शनिवार को दिया गया। गुजरात विश्वविद्यालय के समय मांगे जाने के बाद अदालत ने इस सुनवाई को 21 अगस्त तक ताल दिया है। 

GSRTC Recruitment 2023

RTO Gujarat

Kejriwal aur Sanjay Singh मानहानि मामले में कोर्ट में उपस्थित होने का आदेश

जुनेजा के अनुसार, Kejriwal aur Sanjay Singh ने सत्र अदालत में एक पुनर्विचार याचिका दायर की थी, यह याचिका उसी दौरान दायर की गई थी जब उन्होंने मानहानि मामले में मेट्रोपोलिटन अदालत के समन को चुनौती दी थी और इसी दौरान अंतरिम राहत की भी मांग की गई। फिलहाल उनकी प्राथमिक याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया है और इस संबंध में जारी समन को लेकर कोर्ट ने दोनों नेताओं को 11 अगस्त को कोर्ट में मौजूद रहने का आदेश दिया है। 

जुनेजा के अनुसार, हमने आपराधिक मानहानि मामले की सुनवाई पर अंतरिम रोक लगाने के लिए सत्र अदालत में याचिका दायर की थी, जिसकी सुनवाई इस स्थान की मेट्रोपॉलिटन अदालत में हो रही थी। अदालत द्वारा हमारी याचिका खारिज करने के बाद इस मामले को 21 अगस्त के लिए निर्धारित किया गया है।

अदालत ने इन्हे इसीलिए इस मामले में अस्थायी राहत देने से इनकार कर दिया क्योंकि इन दोनों नेताओं ने मेट्रोपोलिटन अदालत को यह सूचित किया है कि वे 1 अगस्त कोर्ट के समक्ष उपस्थित रहेंगे। जुनेजा के मुताबिक, अब वह गुजरात हाई कोर्ट से संपर्क करेंगे। गुजरात विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार पीयूष पटेल द्वारा दायर मानहानि के मुकदमे के अनुसार, दोनों नेताओं द्वारा विश्वविद्यालय के बारे में की गई टिप्पणियाँ अपमानजनक थीं और विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुँचाया।

Leave a Comment