CM भूपेंद्र पटेल ने वलसाड में फहराया तिरंगा

वलसाड में गुजरात के CM भूपेंद्र पटेल ने तिरंगा फहराया। हालांकि आपको बता दे की CM भूपेंद्र पटेल एक दिन पहले 14 अगस्त को ही  तक वलसाड पहुँच गए थे। मुख्यमंत्री के भाषण के अनुसार, राज्य स्तरीय कार्यक्रम इस वर्ष वलसाड जिले में आयोजित किया जा रहा है। वलसाड वही भूमि है जहाँ ईरान से आए पारसियों का स्वागत किया गया था और ये वही पारसी है जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

देश आज अपना 77वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। वलसाड में गुजरात के CM भूपेंद्र पटेल ने तिरंगा फहराया। स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान बोलते हुए भूपेन्द्र पटेल ने ऐसी कई परियोजनाओं की घोसणा की जो अगले वर्ष से लागू की जाएगी।

भाषण में स्वतंत्रता संग्राम के दौरान पारसियों द्वारा दिए गए योगदान

CM भूपेंद्र पटेल ने अपने भाषण में लोगो को सम्बोधित करते हुए लोगो को यह सूचना दी कि इस वर्ष राज्यस्तरीय समारोह वलसाड जिले में आयोजित की जाएगी। वलसाड में ईरान से आए पारसियों का स्वागत किया गया था पारसियों की एक अहम भूमिका जो की आज़ादी की लड़ाई दिए गए योगदान के लिए जाना जाता है। 

इसी भाषण के दौरान डांग जिले के 279 गांवों में 866 करोड़ रुपये के सतही स्रोत आधारित जल आपूर्ति कार्यक्रम की घोषणा की गई। इस योजना के क्रियान्वयन से प्रतिदिन 37 एमएलडी पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

CM भूपेंद्र पटेल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हरित विकास नारे को ध्यान में रखते हुए हरित विकास और स्वच्छ ऊर्जा के समर्थन में राज्य में बड़े पैमाने पर परियोजनाएं शुरू की गई हैं। कच्छ जिले में, खावड़ा के करीब 30 गीगावॉट हाइब्रिड नवीकरणीय ऊर्जा पार्क का विकास किया जा रहा है।

Independence Day: सीएम भूपेंद्र पटेल ने वलसाड में किया ध्वजारोहण

अहमदाबाद में निकली लंबी तिरंगा यात्रा

PM Degree – गुजरात हाई कोर्ट से केजरीवाल-संजय सिंह को झटका

AFCAT Full Form

भारत जोड़ो यात्रा

CM भूपेंद्र पटेल: गुजरात में आए विनाशकारी तूफ़ान से कैसे निपटा गया 

CM भूपेंद्र पटेल ने भाषण को जारी रखते हुए आगे कहा कि कुछ दिन पहले आए चक्रवात बिपोरजॉय से प्रभावित 1 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में स्थानांतरित कर दिया गया है। और इस तूफ़ान का गुजरात ने बहादुरी से डटकर मुकाबला किया।

सीएम भूपेन्द्र पटेल ने आगे कहा, “सरकार ने जनता को साहूकारों के उत्पीड़न से बचाने के लिए 4,000 से अधिक जनता दरबार बनाए हैं। राज्य प्रशासन ने राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति के साथ शांति की गारंटी के लिए गंभीर उपाय लागू किए हैं, चाहे वह रोकथाम के लिए अभियान हो”।

4g से 5g को और बढ़ता राज्य: भूपेंद्र पटेल

उन्होंने आगे कहा,”गुरत राज्य पहले से ही 4जी (गरवी गुजरात, गुणवंतु गुजरात, डायनेमिक गुजरात और ग्लोबल गुजरात) था और अब यह 5जी की ओर बढ़ गया है। इस पांचवें जी का मतलब ‘ग्रीन गुजरात है। राज्य में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इलेक्ट्रिक वाहन नीति लागू की गई है।”

उन्होंने कहा,”सरकार की ओर से 215 करोड़ से अधिक की सब्सिडी का भुगतान किया जा चुका है। साथ ही गुजरात अपनी सेमीकंडक्टर नीति की घोषणा करने वाला पहला राज्य है। साणंद में पहला सेमीकंडक्टर प्लांट आकार ले रहा है।”

4 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों की सुविधा वाला राज्य: सीएम

सीएम ने कहा कि राजकोट का अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा हाल ही में प्रधान मंत्री मोदी द्वारा खोला गया था। इसके परिणामस्वरूप अब गुजरात के पास चार अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे उपलब्ध हैं। 10वां वाइब्रेंट शिखर सम्मेलन जनवरी 2024 में होगा क्योंकि इसने आज खुद को एक मानक के रूप में स्थापित कर लिया है। राज्य भर के 33 जिलों में 2645 अमृत झीलें बनाई गई हैं।

राज्य सरकार द्वारा लगभग 69.11 लाख हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई अवसंरचना का निर्माण किया गया है। इस राज्य में 8.84 मिलियन एकड़ भूमि में जैविक खेती को अपनाया गया है।

Leave a Comment